Nice Day India

Monday, 13 March 2017

अम्लपित्त/एसिडिटी, व् पेट के कीड़ों का घरेलु का उपचार


1 अम्लपित्त – *प्याज- ६० गराम प्याज के टुकडे ३० गराम दही मे मिलाकर रोज तीन बार खाए, कम से कम १५ दिन लें। *गाजर- गाजर का रस पिए। *लोंग- सुबह- शाम खाने के बाद एक -एक लोंग लें। *मूली-
मूली के रस मे मिश्री मिलाकर पिए। *आलु- रेत में भुनकर आलु खाए। *केला-
केले में खांड ओर ईलाची मिलाकर खाए। *निम्बू- गर्म पानी में शाम को निम्बू मिलाकर खाए। *दूध- दिन में बार - बार दूध पिए। *नारियल-
कच्चे नारियल का पानी पिए। (2)पेट में कीडे - करेला रस लाभकारी है। लस्सी में नमक मिलाकर सुबह पिए , कीड़े मर जाते है। तुलसी के पत्तो का रस पीना भी फायदेमंद है। नीम का तेल पांच बूंद तक बच्चों को उम्र मुताबिक दें , लाभ होगा। शहद एक हिस्सा, दही दो हिस्से , मिलाकर चाटने से कीड़े मरकर मल - द्वार के रास्ते निकल जाते है। नीम्बू बीजों को पीसकर चूरन करके पानी से लें। सेब रात को सोते समय खांए , पानी मत पिए बाद में , लाभ होगा। आम की गुठली का चूर्ण गर्म पानी से लेने से लाभ करेगा। ऑवला का ताजा रस रोज पिए सात दिन तक, लाभदायक है। टमाटर लाल के उपर काली मिर्च लगाकर सुबह खाली पेट लें , कीड़े मर जाएगे। प्याज का रस लेने से कीड़े मर जाते है। अजवायन में गुड़ मिलाकर खाए , कीड़े मर कर ही निकलेगे।
Share:

0 comments:

Post a Comment

Copyright © Nice Day India | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com