Nice Day India

Sunday, 6 August 2017

रियल लाइफ के हीरो जिन्हे हम पहचान नहीं पाते हैं, और वो हमारे आस पास ही रहते हैं

रियल लाइफ के हीरो जिन्हे हम पहचान नहीं पाते हैं, और वो हमारे आस पास ही रहते हैं

अयोध्या में क्या बनना चाहिए ? राम मंदिर या बाबरी मस्जिद? ये अब भी चर्चा का विषय है











फ्रेंडशिप डे आपने कैसे मनाया अपने फ्रेंड्स को विश करके या चॉकलेट गिफ्ट करके या फिर अपने फ्रेंड के साथ घूम फिर कर कैसे मनाया आपने अपना फ्रेंडशिप डे. खैर जैसे भी मनाया होगा आपने अपना फ्रेंडशिप डे अच्छा ही मनाया होगा खूब एन्जॉय किया होगा और अपने फ्रेंड को गिफ्ट दिया होगा उनके साथ घूमे फिरे होंगे।






लेकिन आज मैं बात कर रही हूँ एक ऐसे शख्श की जिसने अपना फ्रेंडशिप डे मनाया  समाज सेवा करके लोगों को ख़ुशी देकर उस शख्श का नाम किसी सुपरस्टार से कम नहीं है वो रियल लाइफ का स्टार है। जिसको किसी पहचान की जरुरत नहीं है ना ही किसी पब्लिसिटी की जरुरत है. वो किसी हस्ती से कम नहीं है, उनको कोई जनता तक नहीं होगा लेकिन उस शख्श के बारे में जितनी बात की जाये वो कम ही होगी।

इस शख्स ने 36 बार ब्लड डोनेट किया है. और कई बार ब्लड डोनेट कैंप लगवा कर लोगों की मदद की है. कोई भी हादसा होने पर एम्बुलेंस से पहले हेल्प के लिए पहुँच कर जान बचाने में जाता है.




राजस्थान के एक छूटे से प्रान्त में रहने वाले इस शक्श का नाम है श्याम सूंदर श्वरनकार जो सुजानगढ़ में एक छोटे से किराये के घर में रहता है. और समाज सेवा ही उनका धर्म और कर्म है. १५०००/ रूपये की प्राइवेट नौकरी करने वाले इस शक्श ने समाज सेवा को तन मन और  धन से अपनाया है. अपनी छोटी सी तनख्वा होने के बावजूद अपनी तनख्वा भी समाज सेवा में लगा देते हैं अपने इस जूनून के लिए इस शख्श शुरुवात में ने कई बार अपने घर पर भी अपने घर वालों के विरोध का भी सामना करना पड़ा है. लेकिन उनका समाज सेवा के प्रति समर्पण देखकर सभी घर वाले भी समाज सेवा में लग गए. सरकार द्वारा कई बार सम्मानित किये जा चुके हैं श्याम सूंदर श्वरनकार जी.



किसी भी एक्सीडेंट में घायल व्यक्ति को वो अपनी हर संभव सहायता देते हैं. फिर उसमे चाहे उसका हॉस्पिटल का खर्च हो या दवाई का खर्च या फिर ब्लड की व्यवस्था करवाना उनकी पैसे से हेल्प करने के लिए लोग सामने आते हैं लेकिन वो किसी से कोई हेल्प नहीं लेते हैं. वो लोगों को ब्लड डोनेट करने के लिए मोटीवेट करते हैं उनकी इस समाज सेवा के लिए मैं सलाम करती हूँ. और ऐसे शक्श पर पुरे देश को गर्व होना चहिये। आज भी उनका फ्रेंडशिप डे समाज सेवा में ही गुजरा क्योंकी उनके फ्रेंड है जरुरत मंद वो सब जो किसी ना  किसी हादसे के शिकार हैं.
अगर इंसान के हौसले बुलंद हो तो कोई भी कुछ भी कर सकता है. बिना किसी की मदद लिए



Share:

0 comments:

Post a Comment

Copyright © Nice Day India | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com